Thursday, March 19, 2020

जब उत्तरदायित्व सभी निभाएं


कोरोना का खतरा जब तक खत्म नहीं हो जाता, हर नागरिक को अपनी भूमिका निभानी है. सरकार और डॉक्टर जो हिदायतें भी दे रहे हैं, वे हम सभी की सुरक्षा के लिए हैं. हमें इस माह के अंत तक अपने-अपने घरों में ही रहना है. सर्दी-जुकाम होने पर हेल्पलाइन नम्बर पर सुचना देनी है. यदि किसी विदेश यात्रा से लौटे हैं तो और भी सावधान रहना होगा. साफ-सफाई का ध्यान रखना है और जीवाणु नाशक साबुन का प्रयोग करना है. कोरोना के रोगी ठीक हो रहे हैं, शरीर के भीतर रोग प्रतिरोधक क्षमता यदि मजबूत है तो धैर्य के साथ इसका मुकाबला किया जा सकता है. ईश्वर न करे कि कोई इसकी चपेट में आये, यदि हम सुरक्षित रहेंगे तो अन्यों को भी सुरक्षित रखने में सहायता करेंगे. दुनिया भर में वैज्ञानिक इसका इलाज खोज रहे हैं, जल्दी ही इसका टीका भी खोज लिया जायेगा और मानवता को विनष्ट होने से बचा लिया जायेगा. कल शाम प्रधानमंत्री का देश के नाम संदेश सरकार की तरफ से उठाये जा रहे कदमों की ही एक अगली कड़ी थी. जनता कर्फ्यू के द्वारा तथा उन स्वास्थ्य कर्मियों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करके हम एक जागरूक नागरिक के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभा सकते हैं. हम्म से हरेक इस संघर्ष में एक सिपाही है, कुछ बाहर रहकर युद्धरत हैं तो कुछ को घर में रहकर अपनी भूमिका निभानी है. इस समय का सदुपयोग कैसे हो, कैसे इस संकट को पहले चुनौती मानकर फिर एक सुअवसर मानकर हम स्वयं कुछ नया कर सकते हैं, सीख सकते हैं, बच्चों को सिखा सकते हैं. जिन पुस्तकों को पढ़ने का समय नहीं मिला था, उन्हें पढ़ सकते हैं, जो स्वेटर अधूरा पड़ा है उसे पूरा कर सकते हैं. कहानियां सुना सकते हैं, पहेलियाँ बुझा सकते हैं, यानि घर में रहने को मजबूरी न मानकर एक सुअवसर मान सकते हैं. घर की सफाई कर सकते हैं.संक्षेप में कहें तो वह सब कुछ कर सकते हैं जो समय की कमी के चलते टालते आ रहे थे. देखते-देखते यह समय भी बीत जायेगा और एक सुबह फिर सामान्य होगी, बच्चे स्कूल जायेंगे, लोग दफ्तर जायेंगे और बाजार, मॉल आदि में पहले की भांति हलचल नजर आएगी.

12 comments:

  1. सच यह सामुहिक जिम्मेदारी है हम सबकी
    सार्थक प्रस्तुति

    ReplyDelete
  2. जी नमस्ते,
    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा शनिवार(२१-०३-२०२०) को "विश्व गौरैया दिवस"( चर्चाअंक -३६४७ ) पर भी होगी।
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    आप भी सादर आमंत्रित है
    ….
    अनीता सैनी

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छी प्रस्तुति

    Mere blog par aapka swagat hai.....

    ReplyDelete
  4. सार्थक सन्देश, सोद्देश्य लेखन।

    ReplyDelete
  5. एकदम सटीक ...
    अपनी सुरक्षा अपने हाथ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. स्वागत व आभार सुधा जी !

      Delete
  6. सटीक और सामयिक प्रस्तुति

    ReplyDelete
  7. सुंदर संदेश अनीता जी ,सादर नमन

    ReplyDelete